इजहार-ए-मुहब्बत वेलेंटाइन डें

मझौलिया /बिहार- प्रेम का इजहार करने के लिये गुलाब के बहुरंगी फुल से बेहतर शायद ही कोई जरिया या उपहार हो।ऐसे मे जब वेलेंटाइन डे नजदीक हो तो दिलो की धडकन तेज होना स्वभाविक हैं।बेहतरीन व खुबसूरत गुलाब के सहारे अपने प्यार को पाने की ख्वाहिश के लिए युवा वेलेंटाइन डे के दिन अपनी तरफ यानि अपने प्रेम के आगोश मैं खिचेंगे।ये गुलाब कितने दिलो को जोड पायेगा यह कहना मुश्किल हैं।परन्तु वर्ष मैं एक बार आने वाला यह मौका शायद ही कोई युवा छोड़े ।विगत पांच छह दिनों से वेलेंटाइन डे शुरू हो चुका हैं।युवा सात फरवरी को रोज डे के साथ ही शुरू। हो गयी।शुक्रवार को युवा जोडें ने प्रपोज डे मनाया हैं।इसकी कगली कडी मैं चौकलेट डे मनाया गया।इस दिन अपनी चाहत की मीठे स्वाद का एहसास करा कर रिश्ते की डोर को और मधुर बनाने की कोशिश होती हैं।हालांकि वेलेंटाइन डे गुरुवार को पडने से युवा जोडें छुट्टी के अभाव मैं भी अपने कॉलेज, कोचिंग मैं भी छुपते हुये एक दुसरे को गुलाब के फूल भेट कर जमकर वेलेंटाइन डे इजहार-ए-मुहब्बतें कर पये।अभिभावकों की डर कितने युवा जोडें इसका उपाय निकालते हुए एक दो दीन पहले ही वेलेंटाइन डे मनाया।इसका स्पष्ट नजर शहर के कॉलेजो,होटलो, कोचिंग संस्थानों पार्कों यहां तक मोबाइल से फेशबुक पर अपने युवा जोडें वेलेंटाइन डे पर गुलाब के फुलो के साथ दो दिलों का मिलन देखा गया।लेकिन फिर भी कुछ ऐसे दिवाने हैं जो प्यार के अंजाम से नहीं डरते हुऐ पुलिस के हाथों चढ गए तो लाजमी हैं।कि अपना प्यार का अनोखा अंदाज इतना बढ गया कि अपने दोस्तों के साथ खुबसुरत गुलाब के फुल के साहारे युवा वेलेंटाइन डे के दिन हजारों रुपये खर्च कर देगें।जिले के तमाम चौक चौराहों पर गुलाब के फुल अनेक रंगों का अलग-अलग दाम पर बिस गुलाब के फुल के किमत आम दिनों पचास रुपये से साठ रुपये बिकता हैं।वहीं वेलेंटाइन डे के दिन दो सौ रुपये पार कर जाती हैं।गुलाब कि बाजार मैं मांग को देखते हुऐ ब्यपारी कोलकाता,दिल्ली आदि जगहों से बेहतर गुलाब मांगाते हैं।पाश्चात्य संस्कृति का अनुकरण करते हुए प्रेमी युगल इस दिन इजहार-ए-मुहब्बत मनाते हैं।गुलाब भेट करते है तथा एक दूसरे की आगोश मैं समा जाते हैं।यूरोप वालों ने प्रेमी-प्रेमिका के मिलन हेतु एक दिन यानी प्रत्येक वर्ष 14फरवरी को वेलेंटाइन डे निश्चित किया हैं।

– राजू शर्मा की रिपोर्ट

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!