अतिक्रमण हटाने को लेकर हुआ बवाल: आक्रोशित लोगों ने की पुलिस से हाथापाई,तोड़ फोड़ और आगजनी

मेरठ- यूपी के मेरठ जिले में अतिक्रमण हटाने को लेकर बवाल हो गया। इस दौरान भीड़ ने पुलिस के साथ हाथापाई कर दी। इसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की तो लोगों ने फायरिंग करते हुए पुलिसकर्मियों से वायरलेस और हथियार छीन लिए।

वहीं आक्रोशित भीड़ ने रोडवेज बसों सहित कई वाहनों में तोड़फोड़ करते हुए पुलिस अधिकारियों को दौड़ा दिया। भूसा मंडी स्थित बाघ वाली धार्मिक स्थल में आगजनी के बाद हालात बिगड़ गए। आग की खबर शहर में फैलते ही घंटाघर क्षेत्र के व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद कर दी।

बवाल से पहले यह हुई कार्रवाई
शहर में अतिक्रमण की वजह से लगने वाले लंबे जाम को लेकर अतिक्रमणकारियों पर पुलिस का डंडा लगातार चल रहा है। बेगमपुल से लेकर भैंसाली बस स्टैंड तक पुलिस ने अतिक्रमण हटवाया। सोतीगंज में सड़क पर रखे गाड़ियों के पार्ट्स, कबाड़ और सामान को हटवाया।

इस दौरान कबाड़ियों को हिदायत दी कि यदि दोबारा सामान रखा गया तो मुकदमा कायम कर सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान अफरा-तफरी मच गई। पुलिस ने भैंसाली स्टैंड के बाहर ठेले लगाकर खड़े ठेले वालों पर भी डंडा चलाया।बता दें कि यह मामला सदर थाना क्षेत्र के भूसा मंडी का है। यहां बुधवार को अतिक्रमण हटाने को लेकर बवाल हो गया।

देखते ही देखते मामला इतना बढ़ गया कि लोगों ने कई वाहनों में आग लगा दी। इस दौरान वहां मौजूद लोगों ने पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट भी की। वहीं पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए कई लोगों को हिरासत में ले लिया है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

भैसाली डिपो मेरठ के बस चालक सुनील कुमार बताते हैं कि लगभग सौ से डेढ़ सौ लोगों ने उनकी बस पर हमला बोल दिया। बस में सवार एक महिला और बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गए जबकि बस में सवार अन्य तीस से भी ज्यादा लोगों को गंभीर चोटें आईं हैं। बस चालक के अनुसार वह 100 नंबर पर फोन करते रहे लेकिन पुलिस की कोई मदद किसी को नहीं मिली। इनका गाड़ी नंबर यूपी 174737 है।

कहा जा रहा है कि कई बसों के चालकों के साथ भीड़ ने मारपीट की। वहीं बस में मौजूद सवारियों के साथ जमकर लूटपाट भी की गई। लोगों ने भागदौड़ कर अपनी जान बचाई। मेरठ में आगजनी की सूचना के बीच घटनास्थल के नजदीक स्थित गोलचा सिनेमा का शो भी बीच में ही बंद कर दिया गया। आग की अफवाह फैलते ही सिनेमा में मौजूद लोगों में अफरा तफरी मच गई। सभी दर्शकों को थिएटर से बाहर भेज दिया गया।

ताजा जानकारी के अनुसार डीएम और एसएसपी सहित कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर तैनात है। बवाल की जानकारी होते ही हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता भी घटनास्थल पर पहुंचे और पुलिस से बातचीत की। हालांकि पुलिस ने उन्हें वापस लौटा दिया। बताया जा रहा है कि मौके पर कांच की कुछ बोतलें भी मिली हैं। अंदेशा जताया जा रहा है कि लोगों ने पेट्रोल बम के रूप में इन्हें इस्तेमाल किया होगा।

यह भी कहा जा रहा है कि केंट बोर्ड की टीम बंगला नंबर 201 पर हो रहे अवैध निर्माण को रुकवाने के लिए पहुंची थी। स्थानीय पार्षद मंजू गोयल के बेटे गौरव गोयल के मुताबिक पुलिस ने अवैध निर्माण का विरोध करने पर 5 लोगो को गिरफ्तार किया था। इसके बाद गुस्साए लोगों ने सडे कूड़े में आग लगा दी। जिससे आग फैलकर अन्य झुग्गियों में लग गयी।

– इरफान अहमद की रिपोर्ट

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!