डेरी विकास परिषद की फर्जी संस्था के आधार पर करते थे ठगी: दो जालसाजों को किया गिरफ्तार

प्रयागराज – एसटीएफ ने राष्ट्रीय पशु एवं डेयरी विकास परिषद नामक फर्जी संस्था बनाकर करोड़ों की ठगी से पर्दा उठाया है। जालसाज सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर सूबे के कई जिलों में वसूली कर रहे थे। शातिरों ने पशुधन अधिकारी, पशुधन निरीक्षक, शाखा प्रबंधक, कंप्यूटर ऑपरेटर समेत अन्य पदों पर भर्ती के नाम पर रुपये वसूले और फर्जी नियुक्ति पत्र तक थमा दिया। एसटीएफ ने शिवकुटी स्थित कार्यालय को सील कर दो जालसाजों को गिरफ्तार किया है। गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश में छापामारी की जा रही है।

सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की वसूली

स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) को सूचना मिली कि कुछ जालसाज कई शहरों में कार्यालय खोलकर सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की वसूली कर रहे हैं। एसटीएफ इंस्पेक्टर केशव चंद्र राय और अतुल सिंह की टीम ने शुक्रवार को शिवकुटी थाना क्षेत्र के स्टेनली रोड पर स्थित हाईटेक कार्यालय में छापामारी की तो जालसाजी का भंडाफोड़ हो गया। एसटीएफ ने आरोपित हेमंत बनर्जी पुत्र केसी बनर्जी निवासी देवोग्राम ननूर, बीरभूमि, पश्चिम बंगाल और मदन कुमार पुत्र भगौतीदीन निवासी उदापुर, जेठवारा, प्रतापगढ़ को गिरफ्तार कर लिया।

कई विभागों के पैड, लेटर हेड, नियुक्ति पत्र, आइडी कार्ड बरामद:-

कार्यालय में राष्ट्रीय पशु एवं डेयरी विकास परिषद (भारत सरकार का उपक्रम) लिखे हुए पैड, लेटर हेड, नियुक्ति पत्र, आइडी कार्ड विभिन्न विभागों के फर्जी पैड, नौ कंप्यूटर, लैपटाप, सीडी, पिंटर, परीक्षा, इंटरव्यू, कॉल लेटर और नियुक्ति पत्र बरामद हुए। एएसपी नीरज पांडेय के मुताबिक, कार्यालय से कौशांबी, प्रतापगढ़, वाराणसी, जौनपुर, कानपुर आदि शहरों का पशुधन अधिकारी, पशुधन निरीक्षक, शाखा प्रबंधक, कंप्यूटर ऑपरेटर, कार्यालय सहायक, क्लर्क आदि के फर्जी नियुक्ति पत्र बरामद हुए हैं। एसटीएफ ने कार्यालय को सील कर एसएसपी अतुल शर्मा को सूचित कर दिया।

बोले एसटीएफ के सीओ

सीओ नवेंदु कुमार के मुताबिक, जालसाजों ने प्रदेश के एक दर्जन से अधिक जिलों में कार्यालय खोल सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर करोड़ों की ठगी की है। शिवकुटी स्थित कार्यालय से ही अकेले 22 लोगों को नियुक्ति पत्र देकर लाखों रुपये वसूले गए। गिरोह का सरगना वरिष्ठ तिवारी है जो लखनऊ में गिरफ्तार हुआ है। वरिष्ठ ने लखनऊ में दर्जनों लोगों को फर्जी नियुक्ति पत्र देकर लाखों रुपये वसूले हैं। आठ लाख रुपये ठगी करने पर मामले की रिपोर्ट शिवकुटी थाने में भी दर्ज हुई है। गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश में एसटीएफ छापामारी कर रही है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!