देखभाल के आभाव में अस्पताल बन गया खंडहर:9 सालों से जिम्मेदारों ने नहीं ली सुध

*ई मानापुर संस्था की पहल पर अपनी टीम के साथ निरीक्षण करने पहुंचे डिप्टी सीएमओ

प्रतापगढ़- एक तरफ योगी सरकार स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर बड़े-बड़े दावे कर रही है वहीं दूसरी तरफ उनके अधिकारी तमाम दावो पर पानी फेर रहे हैं। यहां करोड़ों की लागत से बना अस्पताल डॉक्टर और मरीजों के लिए तरस रहा है यहां जंगली जानवरों के साथ सांप बिच्छू जैसे जहरीले जंतुओं का अड्डा बन गया है।
पूरा मामला प्रतापगढ़ जिला मुख्यालय से लगभग 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पट्टी तहसील के मानापुर गांव का है यहां स्थित 36 बेड का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का नमूना बना हुआ है। 9 साल पहले बनी करोड़ों की लागत से या अस्पताल देखरेख के अभाव में 9 साल में एक खंडहर में तब्दील हो गया है दरवाजे और खिड़कियां तोड़ दी गई है अस्पताल में लगे पंखे चोर उठा ले गए हैं और पूरे अस्पताल परिसर में झाड़ियां हो गई हैं लेकिन स्वास्थ्य विभाग आंख मूंदकर बैठा हुआ है।
अपने गांव को डिजिटल बनाने वाली संस्था ई मानापुर और सांसद कुँअर हरिबंश सिंह के संयुक्त प्रयास से अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे डिप्टी सीएमओ ने अस्पताल परिसर का जायजा लिया और कहा कि इस बारे में शासन को रिपोर्ट भेजा जाएगा तथा साफ सफाई और सुरक्षा की व्यवस्था करा कर डॉक्टर की भी उपलब्धता की जाएगी।
ई मानापुर संस्था के संयोजक राजेश सिंह और आर पी सिंह ने बताया कि हमारी संस्था लगातार भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा रही है, क्षेत्र के लोग जो इलाज कराने 20 किलोमीटर दूर जाते थे अस्पताल की व्यवस्था पटरी पर आने के बाद सभी को बहुत ही सहूलियत मिलेगी।
– मुकेश पांडेय, प्रतापगढ़

Leave a Reply

%d bloggers like this: