नारायण दत्त तिवारी के पुत्र रोहित शेखर तिवारी का निधन: जानें रोहित शेखर तिवारी के बारे में कुछ बातें

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड़ के मुख्यमंत्री रहे मरहूम एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी का निधन हो गया है। दक्षिण दिल्ली के डीसीपी विजय कुमार ने बताया है कि शेखर को उनकी मां और पत्नी साकेत के मैक्स अस्पताल लेकर पहुंची थीं। जहां उन्हें डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। रोहित 40 साल के थे। बताया गया है कि उन्‍हें हार्ट अटैक आया था, जिसके बाद उन्‍हें पत्नी और मां ने मैक्स अस्पताल लेकर आई थीं। हालांकि किन वजहों से उनकी मौत हुई है, इसकी सही-सही जानकारी नहीं मिल सकी है।

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार शाम करीब चार बजे दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी स्थित घर में पर उनकी तबीयत बिगड़ी। उनके हाथ-पांव ठंडे हो गए और नाक से खून निकलने लगा। रोहित की पत्नी और मां अस्पताल लेकर आईं लेकिन उनको बचाया नहीं जा सका। रोहित शेखर 2017 में भाजपा में शामिल हुए थे।

हालांकि वो राजनीतिक तौर पर सक्रिय नहीं थे। रोहित एनडी तिवारी और उज्जवला शर्मा के बेटे थे। एनडी तिवारी का 93 साल की उम्र में अक्‍टूबर 2018 में निधन हो गया था। तिवारी जो उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद पर रहने के अलावा आंध्र प्रदेश के राज्यपाल भी रहे थे। रोहित ने 2008 में दावा किया था कि वो एनडी तिवारी के बेटे हैं, जिसके बाद ये मामला अदालत तक गया और आखिर में उनकी बात सही साबित हुई।

जानें रोहित शेखर तिवारी के बारें में:-

पूरा नाम- रोहित शेखर सिंह तिवारी

जन्मतिथि- 1979

पिता का नाम- नारायण दत्त तिवारी

माता का नाम- उज्वला तिवारी

पत्नी का नाम- अपूर्वा शुक्ला

जन्म स्थान- नई दिल्ली

व्यवसाय- राजनीतिज्ञ

रुचियां- सिंगिंग, रीडिंग, टेनिस खेलना और कॉमेडी शो देखना।

बता दें कि पिछले साल अप्रैल में ही रोहित की सगाई मध्यप्रदेश की अपूर्वा शुक्ला से हुई थी। रोहित और अपूर्वा की सगाई रोहित के दिल्ली स्थित आवास पर हुई थी। मई में रोहित और अपूर्वा परिणय सूत्र में बंध गए थे।

इस कार्यक्रम में रोहित के करीबी रिश्तेदारों और मित्रों ने भाग लिया था। सगाई के बाद रोहित और अपूर्वा मैक्स हॉस्पिटल गए थे जहां रोहित के पिता एनडी तिवारी का इलाज चल रहा था। रोहित की मां डॉ. उज्ज्वला तिवारी और अपूर्वा के माता-पिता भी अस्पताल गए थे।

अपूर्वा मध्यप्रदेश के इंदौर से ताल्लुक रखती हैं और तब सुप्रीम कोर्ट में वकील के तौर पर प्रैक्टिस कर रही थीं। रोहित ने जनवरी 2017 में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली थी। रोहित एनडी तिवारी और उज्ज्वला शर्मा की जैविक (बायोलॉजिकल) संतान थे।

एनडी तिवारी प्यार से रोहित को गुंजनू बुलाते थे। यह बात रोहित ने खुद बताई थी। दोनों के बीच चल रहा कानूनी विवाद मार्च 2014 में खत्म हुआ था, जिसके बाद रोहित अपने पिता के साथ ही रह रहे थे। पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी का लंबी बीमारी के बाद पिछले साल 18 अक्तूबर को निधन हो गया था।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!