सिपाही की गोली मारकर हत्या, 10 दिन बाद होनी थी शादी

मेरठ- मेरठ जिले के कस्बा फलावदा में शुक्रवार तड़के सिपाही का गोली लगा शव पड़ा मिला। घटनास्थल पर ही तमंचा और कारतूस पड़ा था। स्थानीय लोग उसकी हत्या करने की आशंका जता रहे हैं, वहीं पुलिस अफसर प्रथम दृष्टया इसे सुसाइड मानकर चल रहे हैं। पुलिस और फोरेंसिक टीमों ने जांच-पड़ताल शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार शामली जिले में झिंझाना थाना क्षेत्र के मंगलौरा गांव निवासी अंकुर (26) पुत्र राजकुमार यूपी पुलिस 2015 बैच का सिपाही था। वर्तमान में उसकी तैनाती फलावदा की कस्बा पुलिस चौकी पर थी। देर रात अंकुर पुलिस चौकी परिसर में सो रहा था। शुक्रवार तड़के करीब पांच बजे वह अपने दोनों मोबाइल पुलिस चौकी में छोड़कर कहीं चला गया। दिन निकलने पर उसका शव मोजीपुरा गांव के बाहर धर्मवीर के ईख के खेत में पड़ा मिला। सिर में गोली लगी हुई थी और पास में ही तमंचा और कारतूस पड़े थे।

एसएसपी अखिलेश कुमार और एसपी देहात राजेश कुमार ने घटनास्थल का मौका-मुआयना किया। एसपी राजेश कुमार ने बताया कि सिपाही अंकुर की 21 जनवरी को शादी होने वाली थी। क्राइम ऑफ सीन को देखकर ऐसा लग रहा है जैसे किसी तनाव में सिपाही ने खुदकुशी की है। फिलहाल सभी पहलुओं पर जांच की जा रही है।

अनसुलझा प्रश्न- खुदकुशी करने डेढ़ किमी दूर नहीं जाता सिपाही?

जहां पर सिपाही अंकुर का शव पड़ा मिला है, वहां से पुलिस चौकी की दूरी करीब डेढ़ किलोमीटर है। पुलिस अधिकारी कह रहे हैं कि मामला खुदकुशी जैसा प्रतीत हो रहा है। सवाल उठता है कि यदि अंकुर को खुदकुशी करनी थी तो वह कहीं भी कर सकता था। सिर्फ खुदकुशी करने के लिए सुबह पांच बजे उठकर डेढ़ किलोमीटर दूर खेत में न आता। कुछ और भी पहलू हैं जो हत्या की ओर इशारा कर रहे हैं।*

मोबाइल से खुल सकता है राज:-

पुलिस ने सिपाही अंकुर के दोनों मोबाइल कब्जे में ले लिए हैं। उनकी व्हाट्स चैटिंग और कॉल रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है। बताया जा रहा है कि चौकी से जाने से पहले अंकुर के मोबाइल पर कोई कॉल आई थी। ऐसे में पुलिस अंकुर के मोबाइलों से इस केस का खुलासा कर सकती है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!