रिटायर्ड फार्मासिस्ट की हत्या का खुलासा: नाती ही निकला हत्यारा

वाराणसी- नव वर्ष के पहले दिन एक जनवरी को रिटायर्ड फार्मासिस्ट प्रेमचंद की हत्या का शिवपुर,लोहता पुलिस ने मंगलवार को खुलासा कर दिया। इस हत्या में शामिल मृतक के नाती को लोहता पुलिस और शिवपुर पुलिस की संयुक्त टीम ने बसही से गिरफ्तार कर लिया। वही पुलिस ने इस घटना में शामिल दो अन्य अभियुक्तों को भी उसके साथ गिरफ्तार किया है।
इसपुलिस लाइन में पत्रकारो से बात करते हुए एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि एक जनवरी को पिसौर पुल के पास ह्त्या कर फेका फार्मासिस्ट का शव मिला था।परिजनों की तहरीर पर अज्ञात पर मुकदमा दर्ज कर एसपी ग्रामीण मार्तण्ड प्रताप सिंह, एसपी क्राइम ज्ञानेंद्र प्रसाद के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच और लोहता एवं शिवपुर पुलिस की कई टीमें इस हत्या का खुलासा करने में लगाईं गयी थी।
आज रात्रि में थानाध्यक्ष लोहता और थानाध्यक्ष शिवपुर अपने थाना क्षेत्र में थे उसी समय मुखबिर द्वारा सूचना मिली की फार्मासिस्ट हत्याकांड में शामिल अभियुक्त बसही चौराहे पर खड़े हैं
इस सूचना पर विश्वास करते हुए पुलिस टीम ने अभियुक्त सुजीत निवासी नवलपुर बसही थाना शिवपुर, बब्लू बारी निवासी रामपुर कलवारिया थाना रामनगर और अरुण गौण निवासी मीरापुर बसही थाना शिवपुर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के तालाशी लेने पर इनके पास मृतक प्रेमचंद्र का पर्स, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, एटीएम कार्ड, के साथ लूट के अन्य सामान और 24 सौ रूपये नगद बरामद हुए।
मृतक के चचेरे नाती अभियुक्त सुजीत ने बताया कि मृतक मेरे चचेरे नाना थे। हम और हमारे साथ शराब और जुए के लती हैं। हमें जब शराब पीने के लिए पैसे नहीं मिलते थे तो हम लोग अपने अपने घरों से छोटा-मोटा सामान चुराकर बेच देते थे। नाना जी फार्मासिस्ट के पद से रिटायर हुए थे। उनके घर में पैसे की कमी नहीं थी और इधर बीच उनके घर में कोई नहीं था। नाना रोज़ शाम में मेरे चाचा के घर खाना खाने आते थे और फिर अपने घर जाकर सो जाते थे।
मैंने अपने दोस्तों के साथ नाना को लूटने का प्लान बनाया और 31 दिसंबर की रात जब नाना खाना खा के वापस लौट गए अपने कमरे पर तो मै अपने दोस्त को दवा दिलाने के बहाने नाना के घर पहुंचा और उसने अपने दोस्त को दवा देने की बात कही। जब नाना दवा देने लगे तो मैंने उनके सर पर पीछे से संबल से वार कर दिया उनके गिरने के बाद कई वार किये जिससे वो मर गए उसके बाद हम लोगों ने घर में लूटपाट की और उनका शव उनकी ही गाडी में रखकर पिसौर पुल के पास फेकते हुए एयरपोर्ट के पास उनकी कार कड़ी करके ओला बुक करके अपने घर आ गए थे।
गिरफ्तार करने वालों में लोहता थानाध्यक्ष उपनिरीक्षक राकेश सिंह, उपनिरीक्षक भूपेन्द्र सिंह, व थानाध्यक्ष शिवपुर उपनिरीक्षक नागेश कुमार सिंह, कांस्टेबल अनुपम सिंह सहित पुलिस टीम शामिल है।

रिपोर्टर-:महेश पाण्डेय नेशनल हेड(AV News)

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!