चंडीगढ़ – हरियाणा पुलिस द्वारा 12 सितंबर को सिरसा जिले में घटित दोहरे हत्याकांड की वारदात का 24 घंटे के भीतर पर्दाफाश करते हुए इस संबंध में पांच आरोपियों को गिरफतार किया गया है। पुलिस ने अपराध में प्रयुक्त धारदार हथियार और मोटरसाइकिल भी बरामद की है।
पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों की पहचान सुखसागर कॉलोनी, सिरसा निवासी निर्मल, नटार के साहिल, प्रीत नगर के गुलशन, रंगडी खेरा, सिरसा के कृष्ण और मेला ग्राउंड, सिरसा निवासी दीपक के रूप में हुई है।
इस वारदात में कुल छह व्यक्ति शामिल थे। छठे आरोपी अभी फरार चल रहा है जिनकी पहचान कर ली गई है और बहुत जल्द उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
उन्होंने बताया कि नाथूसरी चोपटा पुलिस स्टेशन में सूचना मिली थी कि कुतियाना माइनर में दो अज्ञात युवकों के शव पडे हैं। सूचना के बाद तुरंत पुलिस मौके पर पहुंची व सिरसा के नाथूसरी चोपटा पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 और 201 के तहत मामला दर्ज किया।
जांच के बाद यह पता चला कि मृतकों में राजस्थान के रामगढ़ के मूल निवासी अमन व गौशाला मोहल्ला सिरसा निवासी जितेन्द्र षामिल हैं।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सिरसा, डॉ0 अरुण सिंह ने इस घटना का पर्दाफाष करने के लिए अपराध जांच एजेंसी, साइबर सेल और नाथूसरी चोपटा थाने की तीन अलग-अलग टीमों का गठन किया। जिसने ने गंभीर प्रयास व कार्रवाई करके इस मामले को 24 घंटे के भीतर ट्रेस कर पांच आरोपियों की गिरफ्तार कर लिया।
प्रारंभिक जांच से पता चला कि चोरी या किसी अन्य लाभ के लिए इस वारदात को अंजाम नही दिया गया था, बल्कि एक दुर्भावनापूर्ण रंजिष में किया गया अपराध था। आरोपियों ने रंजिश के चलते वारदात करना कबूल किया।
यह भी खुलासा हुआ कि आरोपी निर्मल के खिलाफ दो मामले और दीपक के खिलाफ तीन मामले पहले से ही दर्ज हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *