आजमगढ़ : आनलाइन एफआइआर दर्ज कराने वाली सुनीता जिले की पहली महिला बनीं। साइबर क्राइम की शिकार पीड़ित महिला का शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ। मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस भी तत्परता से छानबीन शुरू कर दी। शहर कोतवाली क्षेत्र के रैदोपुर मोहल्ला निवासी सुनीता गोंड पत्नी रामकृती गोंड सिधारी थाना क्षेत्र के बिहरोजपुर गांव में सफाई कर्मी के पद पर कार्यरत हैं। उनका खाता यूनियन बैंक की शाखा विकास भवन में हैं। पीड़िता का कहना है कि उनके खाता से नवंबर माह में तीन हजार रुपये ऑनलाइन निकाल लिया गया था। उन्होंने इस घटना को गंभीरता से नहीं लिया। 28 दिसंबर को उन्होंने यूबीआइ बैंक की शाखा विकास भवन से स्वयं 40 हजार रुपये अपने खाता से निकाला था। उसी दिन उन्होंने अपने खाता से रैदोपुर स्थित एक्सिस बैंक के एटीएम से 20 हजार व सिविल लाइन स्थित यूबीआइ के एटीएम से पांच हजार रुपये निकाला था। दूसरे दिन 29 दिसंबर को उनके खाता से किसी ने ऑनलाइन पहली बार 10 हजार व दूसरी बार नौ हजार रुपये निकाल लिया। खाता से 19 हजार रुपये निकालने की जानकारी होने पर बैंक में पहुंची। बैंक मैनेजर ने बताया कि ऑनलाइन रुपये निकाला गया है। उन्होंने 31 दिसंबर को अपना एटीएम कार्ड बंद करा दिया। इस संबंध में कोतवाली में प्राथमिक दर्ज कराने के लिए तहरीर दी। पुलिस ने जब उनका मुकदमा दर्ज नहीं किया तो उन्होंने घर बैठे आनलाइन मुकदमा दर्ज कराया। एसपी ग्रामीण एनपी सिंह ने कहा कि पीड़ित महिला का आनलाइन मुकदमा दर्ज होने के बाद शहर कोतवाली पुलिस ने घटना की छानबीन शुरू कर दी है।

रिपोर्ट-:राकेश वर्मा आजमगढ़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!