घाघरा नदी में दो बच्चे डूबे, 4 को बचाया: परिजन शव लेकर गए घर,नहीं दी पुलिस को सूचना

* 1 घंटे तक प्रयास बाद शव निकाले गए, चौकी से एक किमी दूर की घटना

आज़मगढ़- रौनापार थाना क्षेत्र के दाम महुला गांव के पास बुधवार को घाघरा नदी में सुबह 7:30 बजे नहाते समय रागिनी 10 वर्ष पुत्री भजुराम निषाद और करिश्मा 12 वर्ष पुत्री रामाश्रय निवासी भैसौली बड़हलगंज गोरखपुर की डूबकर मौत हो गई। बताया गया कि कौशल्या, भुनेश्वरी, संजू, छोटू, रौनक, रितु, अंजलि सहित 13 लोग साथ नहाने गए थे जिसमें अंजलि रितु रौनक को बचा लिया गया। गांव की विद्या पत्नी सत्रजीत 35 वर्ष डूब रहे बच्चों को बचाने गई। जिसमें वह भी नदी की धारा में जाने लगी। वह शिवम 6 वर्ष को बचा रही थी। कौशल्या द्वारा देखे जाने पर शोर सुनकर अपनी साड़ी खोलकर फेंका और विद्या और शिवम को बचा लिया। करिश्मा अपने नाना श्री राम के घर 10 जून की शादी में आई हुई थी। करिश्मा के साथ उसका भाई धीरज व माता सोनमती भी थी। करिश्मा की लाश को लेकर परिजन अपने गांव भैसाडे बड़हलगंज चले गए। दूसरी लाश रागिनी की जो गांव पर उसके पिता का इंतजार हो रहा है। रागिनी का पिता भजुराम बैंगलोर में रहकर काम करते हैं । उसका बड़ा भाई अभय 14 वर्ष और माता रीता हैं। घटना की जानकारी की सूचना पुलिस को नहीं है जबकि रौनापार थाना क्षेत्र के महुला पुलिस चौकी के पास लगभग 1 किलोमीटर उत्तर घाघरा नदी है। जहां यह दोनों बच्चियां डूब कर मर गई और पुलिस के कानों तक सूचना नहीं पहुंची। थाना प्रभारी रौनापार ने कहा कि इसकी जानकारी मुझे नहीं है।

रिपोर्ट:-राकेश वर्मा आजमगढ़

Leave a Reply

%d bloggers like this: