बच्चों के मामूली झगड़े में दबंगों ने घर में घुसकर महिलाओं को लाठी-डंडों से पीटा: बुजुर्ग भी हुआ घायल

हरदोई – उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भले ही महिलाओं की सुरक्षा के लिए तमाम तरह के जतन किए हो लेकिन सूबे के मुखिया की सारी मेहनत पर पानी फिरता नज़र आ रहा।
हरदोई में हुए घटनाक्रम ने यह साफ कर दिया कि हरदोई में न तो महिलाएं सुरक्षित हैं और न ही किसी घटना की हो जाने के बाद पुलिस ही उनकी सुनती है।
दरअसल हरदोई के एक इलाके में बच्चों के बीच कहने को तो मामूली विवाद हो गया लेकिन मामला ऐसा तूल पकड़ा कि दबंगों ने घर में घुसकर महिलाओं को लाठी डंडों से बेरहमी से पीटा इस बीच बीच बचाव करने आए एक बुजुर्ग को भी दबंगों ने नहीं बख्शा और उनकी भी जमकर पिटाई कर दी गंभीर हालत में महिलाओं को जिला अस्पताल भर्ती कराया गया है, इस पूरी घटना में पुलिस की भूमिका संदिग्ध बनी हुई है कि पुलिस ने न तो अब तक कोई मामला दर्ज किया और न ही पीड़ित परिवार की सुध ली है, पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस को लिखित सूचना दी गई लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं करी बल्कि जब दोबारा से दबंगो ने उनका घर से निकलना मुश्किल कर दिया वह अपने घर में कैद हो गए तब पुलिस को सूचना दी गई तो उनकी सुध तक लेने नहीं आई।

जानकारी के अनुसार थाना सुरसा इलाके के खजुराहरा गांव में बुधवार की दोपहर बच्चों के बीच मामूली विवाद हो गया, लेकिन यह मामूली विवाद एक पक्ष के लिए मामूली था किन दूसरे पक्ष ने उस को तूल दे दिया और फिर क्या था इलाके के ही रहने वाले शमसुद्दीन सहाबुद्दीन नसीमुद्दीन और मोनू ने घर में घुसकर बानो रेहाना और रूबीना को जमकर पीटा इस बीच बीच बचाव करने आए बुजुर्ग शाकिर अली ने जब दबंगों को समझाने का प्रयास किया दबंगों ने उनकी भी लाठी डंडों से बेरहमी से पिटाई कर दी।

घटना के बाद पीड़ित परिवार ने थाना सुरसा में लिखित शिकायत की लेकिन पुलिस ने एक मर्तबा भी आरोपियों से सवाल पूछना मुनासिब न समझा, हां इस बात की इत्तला जरूर दबंगों को दे दी कि उनके खिलाफ थाने में तहरीर दी गई है फिर क्या था दबंग्ग एक बार फिर पीड़ित परिवार के घर पहुंचे और घर से बाहर निकलने पर जान से मार देने की धमकी दे डाली।
घायल पीड़ित परिवार दर से सहमा हुआ चोट खाया हुआ घर से बाहर निकलने की भी हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था पीड़ित महिलाओं की मानें तो उस शौच के लिए भी घर से बाहर नहीं निकल पाई लेकिन चोट इतनी भीषण थी कि दर्द ने उनका जीना मुहाल कर रखा था लिहाजा पीड़ित परिवार देर रात इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचा और उसके बाद पीड़ित परिवार ने अपनी पूरी पीड़ा सुनाई।

पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस ने विपक्षियों से सांठगांठ कर ली है जिसके चलते उनके खिलाफ कोई कार्यवाही नही की गई, घायल महिलाओं को डॉक्टर ने जिला अस्पताल में भर्ती कर लिया है लेकिन इन दबंगों पर कब कार्यवाही होती है या महिला सुरक्षा का दम भरने वाला शासन-प्रशासन कब इनकी सुरक्षा की गारंटी दे पाएगा यह जरूर देखने वाली बात होगी।

– हरदोई से आशीष सिंह

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!