मूर्ति क्षतिग्रस्त करने को लेकर दो पक्ष आये आमने-सामने :पुलिस मुस्तैदी से टला मामला

हरिद्वार/ रुड़की – प्राचीन धर्मशाला में रखी मूर्तियां तोड़े जाने पर दो पक्ष आमने सामने आ गए विवाद की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची पुलिस ने बामुश्किल दोनों पक्षों को समझा बुझाकर मामला शांत कराया। मामले को लेकर गांव में तनाव की स्थिति बनी रही।_
_गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के पनियाला गांव में तीन सौ वर्ष पुरानी धर्मशाला है। बताया गया है कि गांव का ही एक परिवार पिछले कुछ वर्षों से धर्मशाला में रह रहा है। परिवार के मुखिया की पिछले चार माह पूर्व मौत हो गई थी। ग्रामीणों ने बताया कि पिछले कुछ दिनों पूर्व महिला के दोनों पुत्रों ने धर्मशाला में निर्माण कार्य कराया। जिसका पहले भी विरोध किया गया था। उस वक्त पुलिस के हस्तेक्षप के बाद मामला शांत हो गया था। ग्रामीणों का आरोप है कि देर रात परिवार ने धर्मशाला में लगी प्राचीन धार्मिक मूर्तियों को क्षतिग्रस्त का दिया। सुबह मामले की जानकारी पाकर मौके पर भारी संख्या में ग्रामीण जमा हो गए। विवाद की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में लेते हुए बामुश्किल मामला शांत कराया ग्रामीणों का कहना है कि उक्त सम्पत्ति ग्राम समाज की है। ग्रामीणों ने ही मूर्तियों को क्षतिग्रस्त करने वाले परिवार को धर्मशाला में शरण दी थी। लेकिन परिवार अब धर्मशाला की सम्पत्ति को नुकसान पहुंचा रहा है। ग्रामीणों ने मांग की है कि उक्त परिवार को धर्मशाला से बाहर निकाला जाए। विरोध करने के दौरान सुखमेन्द्र वाल्मीकि, बीर सिंह, रजनीश अग्रवाल, रनवीर सिंह, सुरेश कश्यप, अशोक राणा, मोहित राणा, चन्द्र प्रकाश बाटा, प्रवीन, सुभाष कश्यप, सौनू आदि ग्रामीण मौजूद रहे। कोतवाल प्रदीप बिष्ट ने बताया कि मामले में समझौता हो गया है। आरोपी परिवार ने धर्मशाला छोड़ने की बात कही है।

– हरिद्वार से तसलीम अहमद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!