सैनिकों को रेपिस्ट कहने वाला प्रधानाचार्य राष्ट्रद्रोह के मामले में गिरफ्तार

*वकीलों ने लिया निर्णय नही लडेंगे प्रधानाचार्य का केस

प्रतापगढ़/ राजस्थान – शनिवार को जिले के कुणी गाँव के सरकारी स्कूल के प्रधानाचार्य द्वारा सैनिकों के खिलाफ की गई अभद्र टिप्पणी का मामला तूल पकड़ गया । लोगों ने आरोपी प्रधानाचार्य के खिलाफ जमकर बवाल किया और सड़क मार्ग जाम कर दिया। बाद में मौके पर पहुंचे कलेक्टर और एसपी ने लोगों से समझाइश की और प्रधानाचार्य को राष्ट्रद्रोह के मामले में गिरफ्तार कर निलंबित कर दिया गया। इसके बाद माहौल शांत हुआ। मामला जिले के हतुनिया थाना इलाके के कुनी गांव का है ।गांव के आदर्श राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में कार्यरत प्रधानाचार्य ने पुलवामा हमले में शहीद हुए देश के जवानों को रेपिस्ट कहते हुए विद्यालय में श्रद्धांजलि सभा नहीं करने का दबाव बनाया था। यह जानकारी विद्यालय में पढ़ने वाले बालकों ने जब अपने परिजनों को दी तो परिजन और ग्रामीण भड़क गए और प्रधानाचार्य के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग करते हुए हंगामा शुरू कर दिया हतुनिया थाना अधिकारी भवानी सिंह राजावत ने बताया कि कुनी गांव के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में प्रधानाचार्य के पद पर कार्यरत मोहम्मद इकराम अजमेरी के खिलाफ ग्रामीणों ने शिकायत दी की जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के खिलाफ और हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए विद्यालय में चर्चा हो रही थी ।तब अजमेरी ने यह कहते हुए श्रद्धांजलि सभा करवाने से इंकार किया कि देश के सैनिक तो रेपिस्ट है ।उनके लिए श्रद्धांजलि कार्यक्रम करने की जरूरत नहीं है ।यह बात बालकों ने जाकर घर पर अपने परिजनों को बताई ,तो परिजनों और ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया लोगों ने विद्यालय के बाहर पहुंच कर नारेबाजी शुरू कर दी। प्रधानाचार्य के खिलाफ नारेबाजी करते हुए ग्रामीणों ने सड़क पर जाम लगा दिया ।इस मामले को लेकर लोगों ने स्थानीय थाना पुलिस को सूचना दी ,ग्रामीणों की ओर से प्रधानाचार्य की इस हरकत पर स्थानीय थाने में मामला भी दर्ज करवाया गया और प्रधानाचार्य को गिरफ्तार किया गया तब मामला शांत हुआ । विभाग ने उसे तत्कालप्रभावसे निलबिंत कर दिया है
उसके इस कृत्य की कठोरतम सजा उसको मिलनी चाहिए ,दूसरी ओर प्रतापगढ़ जिला अभिभाषक संघ की ओर से भी इस मामले में विचार विमर्श कर निर्णय लिया गया कि ऐसे राष्ट्रद्रोहि की कोई भी वकील पैरवी नहीं करेगा ।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!