बेकाबू जनरथ बस यमुना एक्सप्रेसवे से नीचे गिरी, 29 की मौत

आगरा-बेकाबू जनरथ बस यमुना एक्सप्रेसवे से नीचे गिरी जिसके चलते 29 लोगों की मौत हो गयी ।फ़िलहाल मौके राहत बचाव कार्य जारी है. खाई में पानी भरे होने की वजह से राहत बचाव कार्य में मुश्किल आ रही है. अभी तक हादसे की वजह का पता नहीं चल सका है।

आगरा के थाना एताम्दपुर क्षेत्र के पास यमुना एक्सप्रेसवे पर सोमवार तड़के एक बड़े सड़क हादसे में 29 लोगों की मौत हो गई, जबकि 17 लोग घायल हैं. हादसा थाना एत्मादपुर क्षेत्र के झरना नाले के पास हुई जब अवध डिपो की जनरथ बस एक्सप्रेसवे की रेलिंग तोड़ते हुए 50 फीट गहरे नाले में जा गिरी. हादसे के वक्त बस में 44 लोग सवार थे. अभी तक 10 शवों को निकाल लिया गया है. कहा जा रहा है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।

फ़िलहाल मौके राहत बचाव कार्य जारी है. खाई में पानी भरे होने की वजह से राहत बचाव कार्य में मुश्किल आ रही है. अभी तक हादसे की वजह का पता नहीं चल सका है. बता दें बस लखनऊ से गाजियाबाद जा रही थी. मौके पर डीएम और एसएसपी के साथ तमाम आला अफसर मौजूद हैं।

*मरने वालों में एक बच्ची भी*

एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि लखनऊ से दिल्ली की तरफ जा रही बस यमुना एक्सप्रेसवे पर रेलिंग तोड़ते हुए नाले में जा गिरी. इस हादसे में अभी तक 17 लोगों को निकाला गया है. घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है. हादसे में 29 लोगों की मौत हो गई है, जिसमें एक बच्ची भी शामिल है. एसएसपी ने बताया कि हो सकता है ड्राइवर की आंख लगने की वजह से हादसा हुआ हो. फिलहाल रेस्क्यू ऑपरेशन लगभग पूरा हो चुका है. लोगों के सामान से मृतकों की शिनाख्त करने की कोशिश की जा रही है.

आगरा के जिलाधिकारी एनजी रवि कुमार ने भी बताया कि इस हादसे में 29 शवों को निकाला जा चुका है. एक घंटे में राहत बचाव पूरा हो सकता है. उन्होंने बताया कि नाले में पानी होने की वजह से मौतों का आंकड़ा ज्यादा है।

*मुख्यमंत्री ने किया मुआवजे का ऐलान*

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख मुआवजे का ऐलान किया है. साथ ही इस भीषण सड़क हादसे का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अधिकारियों को राहत-बचाव कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा है कि घायलों को समुचित इलाज मुहैया कराई जाए।

Leave a Reply

%d bloggers like this: