प्रसपा के आजमगढ से प्रत्याशी अवनीश सिंह का रोड-शो के दौरान जगह-जगह हुआ जोरदार स्वागत

आजमगढ़- प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के आजमगढ से प्रत्याशी अवनीश सिंह का रोड-शो के दौरान जगह-जगह जोरदार इस्तकबाल समर्थकों द्वारा किया गया। कुंवर अवनीश सिंह आजमगढ़ की सरजमी पर कदम रखते ही सपा मुखिया पर पूरी तरह बरस पड़े और बताया कि वे केवल चाचा शिवपाल यादव के सम्मान की लड़ाई लड रहे है। अखिलेश बेहद स्वार्थी, महत्वाकांक्षी, अवसरवादी है उन्होंने चाचा के अपमान के बाद पिता की भी सामाजिक आबरू को तार-तार करने का काम किया है। शिवपाल चाचा के सम्मान की लड़ाई अब आजमगढ़ से लड़ी जायेगीं। अवनीश सिंह यहीं नहीं रूके, उन्होंने कहा कि जिस दिन से सपा पर हाथी सवार हुआ है उससे साइकिल पूरी तरह अनियंत्रित हो चुकी है। फिलहाल तो अभी वो पंचर मात्र हुई लेकिन जब 23 मई को जब परिणाम आयेगा तो साइकिल के पूर्जे-पूज्रे कबाड़े में बेचा जायेगा। सपा मुखिया और बसपा मुखिया का यह स्वयं का गठबंधन है इस बीच में कहीं भी जनता नहीं आती है। उपेक्षित जनता इन्हें मुंह के बल गिरायेगी। ऐसे पुत्र का कोई विकास नहीं हो सकता है जो अपने चाचा-पिता का अपमान करता हो। वहीं श्राप अखिलेश यादव को 23 मई को ही दिख जायेगा यही बसपा प्रमुख जो अपने कथाकथित भतीजे को पुचकार रहीं है नतीजों के बाद पहला बयान अखिलेश के खिलाफ पढ़ने काम करेगी।
प्रसपा प्रत्याशी अवनीश सिंह का रोडशो आजमगढ़ के मेंहनाजपुर चौक से आजमगढ़ के लिए सुबह 10 बजे से ही निकला। तरवां, परमानपुर मोड़, खरिहानी, सिंहपुर, चक्रपानपुर, सुम्भी, इटौरा मोड, छतवारा, रेलवे स्टेशन, नरौली, होते हुए डीएवी मैदान में पहुंचकर समाप्त हुई। रोड-शो के दौरान अविनाश सिंह का जबरदस्त ढंग से स्वागत किया गया। इस दौरान श्री सिंह ने चक्रपानपुर में राहुल सांकृत्यायन और रैदोपुर में महाराणा प्रताप सहित त्रिमूर्ति की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।रोड शो में प्रमुख रूप से कोशलेन्द्र सिंह, जग्गा सिंह, विक्रांत सिंह, नितेशं सिंह, राहुल चौरसिया, नितेश सिंह, राहुल चौरसिया, राहुल यादव, बिट्टू यादव, नीरज सिंह, अजय गौड, रणविजय सिंह, आनंद सिंह, सत्यानंद सिंह, रोहित विकर्मा सहित भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।
प्रसपा लोहिया से आजमगढ़ के प्रत्याशी अवनीश सिंह नामांकन के अंतिम दिन 23 अप्रैल को कलेक्ट्रेट पहुंचकर सादगीपूर्वक नामांकन करेंगे। अविनाश सिंह पूर्व में 22 को नामांकन करने वाले थे चूंकि उनका रोड-शो आजमगढ़ में विलम्ब से पहुंचा इसलिए उन्होंने 23 को नामांकन की बात कही। अब देखना है कि अंतिम में चाचा की पार्टी को अखिलेश यादव मना लेते है कि उन्हें आजमगढ़ में अपने ही चाचा की पार्टी से भी दो-दो हाथ करना पड़ेगा।

रिपोर्ट:-राकेश वर्मा आजमगढ़

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!